भारतीय योजनायें

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) क्या हैं इसके बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) क्या हैं?
Written by Mukesh Saini

नमस्कार दोस्तों, आपने Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) का नाम तो सुना होगा या कही पढ़ा होगा और आपने सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में जानने की कोशिस भी की होगी. तो दोस्तों मै आपको इस आर्टिकल में सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi) क्या हैं? के बारे में बताऊंगा.

सुकन्या समृद्धि योजना प्रधानमंत्री मोदी जी ने बच्चियों के हित के लिए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ के अंतर्गत चलाया गया हैं. यह योजना उन 10 साल से कम उम्र की बच्ची के लिए उच्च शिक्षा और शादी के लिए बचत करने के लिहाज से केंद्र सरकार की  एक अच्छी निवेश योजना है. जो बालिकाओ के हित के लिए हैं.

यहाँ पर मै इसके बारे में पूरी जानकारी बताऊंगा कि सुकन्या समृद्धि योजना (What is Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi) क्या हैं? इसका खाता कैसे व कहाँ पर खुलवाये. SSY खाता कब तक चलाना होगा व इसके नियम, उपयोग और क्या -क्या दस्तावेज चाहिए होंगे.

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) क्या हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) क्या हैं?

यह बच्चियों के लिए छोटी बचत योजना हैं जिसे बालिकाओं के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत चलाया गया है.

सही से जाने तो 10 साल से कम उम्र की बच्ची के लिए उच्च शिक्षा और शादी के लिए बचत करने के लिहाज से केंद्र सरकार की सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) एक अच्छी निवेश योजना है.

दोस्तों अगर आपके आस – पास 10 साल से कम उम्र की बच्चियां है तो उनका अकाउंट इस योजना में खुल सकता हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता कैसे खुलवाये

इस योजना (SSY) के तहत  किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में एकाउंट खोला जा सकता है. खाता किसी बच्ची के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये के जमा के साथ खोला जा सकता है. चालू वित्त वर्ष में SSY के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कराये जा सकते हैं.

Sukanya Samriddhi Yojana का क्या उपयोग हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना के खाते से 18 साल की उम्र के बाद बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए खर्च के मामले में 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है.

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने के नियम

इस योजना में खाता बच्ची के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा बच्ची के नाम से उसके 10 साल की उम्र से पहले खोला जा सकता है. इस नियम के मुताबिक एक बच्ची के लिए एक ही खाता खोला जा सकता है और उसमें पैसा जमा किया जा सकता है. एक बच्ची के लिए दो खाता नहीं खोला जा सकता.

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने के दस्तावेज

इस योजना में खाता खोलने के वक्त बच्ची का जन्म प्रमाण पत्र पोस्ट ऑफिस या बैंक में देना जरूरी है. इसके साथ ही बच्ची और अभिभावक के पहचान और पते का प्रमाण भी देना जरूरी है.

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खोलने की रकम

Sukanya Samriddhi Yojana में खाता खोलने के लिए शिर्फ़ 250 रुपये काफी हैं. इस योजना में आपको एक वित्त वर्ष में 250 रुपये जमा करना चाहिए. आप इस योजना के तहत 1.5 लाख रुपये से ज्यादा जमा नहीं कर सकते.

इस योजना में रकम खाता खोलने के दिन से 15 साल तक जमा कराया जा सकता है. 9 साल की किसी बच्ची के मामले में जब वह 24 साल की हो जाये तब तक रकम जमा कराई जा सकती है. बच्ची के 24 से 30 साल के होने तक जब SSY खाता मैच्योर हो जाये, उसमें जमा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा.

सुकन्या समृद्धि योजना में पैसे कैसे जमा करें

आप इसके खाते में रकम कैश, चेक, डिमांड ड्राफ्ट या किसी ऐसे इंस्ट्रूमेंट से भी जमा करवा सकते हैं. जिसको बैंक स्वीकार करता हो. इसमें पैसे जमा करवाने वाले का नाम और अकाउंट होल्डर का नाम लिखना जरुरी है. आप इस योजना में इन्टरनेट बैंकिंग के माध्यम से भी पैसे जमा कर रकते हैं.

सुकन्या समृद्धि योजना से पैसे कब निकाले

दोस्तों अकाउंट होल्डर की वित्तीय जरूरतें पूरी करने के लिए योजना के खाते से आंशिक निकासी की जा सकती है, इनमें उच्च शिक्षा और शादी जैसे काम शामिल हैं. इसमें पिछले वित्त वर्ष के अंत तक जमा रकम का 50 फीसदी निकाला जा सकता है. सुकन्या समृद्धि योजना से यह निकासी तभी संभव है, जब एकाउंट होल्डर 18 साल की उम्र पार कर ले.

सुकन्या समृद्धि योजना की कुछ शर्ते

  1. अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती.
  2. अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह एफ्फिडेविट देना पड़ेगा कि खाता बंद करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है.
  3. मैच्योरिटी के समय पासबुक और विथड्रावल स्लिप पेश करने पर खाताधारक को ब्याज सहित जमा रकम वापस हो जाएगी.
  4. इस योजना के तहत खाता सिर्फ भारतीय नागरिक का खोला जा सकता है, जो यहीं रह रहा हो और मैच्योरिटी के वक्त भी यहीं रह रहा हो.

दोस्तों मैंने आपको उपर Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) के बारे में सारी जानकारी बता दिया हूँ. अगर कुछ छूट गया हो तो कमेंट करके जरूर बताये. धन्यवाद….

About the author

Mukesh Saini

दोस्तों मेरा नाम मुकेश सैनी हैं और मै श्योरहिंदी का फाउंडर हूँ, जहाँ पर सारी जानकारी हिंदी में शेयर की जाती हैं. आप हमारे ब्लॉग पर हमेशा हिंदी में नया ही सीखेंगे.

Leave a Comment